Thursday, 13 April 2017

,

दक्षिण कोरिया जन्नत है यहां

South Korea
ऊंचे-ऊंचे पहाड़, दिल लुभाते झरने, घने जंगल, उन सबके बीच काली-सफेद चट्टानें, दूर-दूर तक पसरा समुद्र तट, फूल-पत्तियां-टहनियां। ये देखकर प्रकृति के गोद में खो जाने का अहसास किसी जन्नत के अहसास कम नहीं। दुनिया भर में ऐसे कई देश हैं जहां ऐसे नजरों और अहसासों को पाना दुर्लभ नहीं, पर जब बात दक्षिण कोरिया की हो तो आप इन अहसासों और आसानी से प् सकते हैं। यह सही समय है जब दक्षिण कोरिया की सैर कर अपनी यात्रा डायरिओं और रोमांचक अनुभवों की कड़ी में एक और खास अनुभव जोड़ सकते हैं। इस देश की सांस्कृतिक विरासत भी समृद्ध रही हैं। यानि प्राकृतिक खूबसूरती के साथ-साथ यहां आप पारंपरिक और आधुनिक कला का खूबसूरत मेल भी देख सकते हैं। दक्षिण कोरिया को दुनिया के कुछ बेहतरीन हनीमून पड़ावों में से एक माना जाता है। आइए, जब जान लेते हैं यहां के कुछ अन्य महत्वपूर्ण स्थलों के बारे में और कर लें उस जगह की एक छोटी सैर...

सियोल
Seoul City
यह दक्षिण कोरिया की राजधानी है और इस देश का राजनीतिक और आर्थिक केंद्र भी। यहां आप मन को सुकून देने शांति के साथ शहर की नाईट लाइफ का भी भरपूर लुत्फ़ उठा सकते हैं। यहां पर आपको आधुनिक और प्राचीन कोरिया की संस्कृति के मेल का खूबसूरत नमूना दिखाई देगा। यही एक खास बात है जो सियोल को विशेष बनाता है। यहां के कुछ स्थान यूनेस्को विश्व विरासत सूची में शामिल हैं। चेंजदिओक पैलेस, हवासोंस फोर्टरेस, जोंगम्यो शीरिन और जोसियन डिनेस्टी का राजसी मस्जिद ऐसे कुछ नाम हैं, जिन्हें यूनेस्को ने विश्व विरासत की सूची में रखा है। यहना की मुख्य रौनक स्ट्रीट फ़ूड भी है, जो सड़क किनारे लंबी कतारों में चमकीली रोशनियों के बीच शहर की शोभा बढ़ाने का काम करते हैं। इस कारण इस शहर को 'होम ऑफ़ स्ट्रीट फ़ूड' भी कहा जाता है। सियोल शहर दुनिया भर में एक शैक्षणिक केंद्र के रूप में मशहूर है। अपनी अलग शैक्षणिक प्रणाली माना जाता है। इसे अलावा, यहां यूथ कल्चर भी शानदार है। मिली-जुली संस्कृति और आधुनिक तकनीक से बनी इमारतें इसकी शान हैं। कोरिया फाइनेंस बिलिडिंग, एन सियोल ऑवर, द वर्ल्ड ट्रेड सेंटर और सेवन स्काईस्क्रेपर रेजिडेंस टॉवर पैलेस शहर के मुख्य आकर्षण हैं, जो पर्यटकों का अपनी ओर लुभाते हैं।

ह्रौंडइ तट, बुसान
बुसान एक तटीय इलाका है, जो कई तटों से घिरा है। इसी में से एक है ह्रौंडइ तट। केवल गर्मियों में ही नहीं, बल्कि यहां आप सर्दी के मौसम में आएं तो भी इस जगह की खूबसूरती का पूरा आनंद उठा सकते हैं। सर्दियों के मौसम में टहलने के लिए यह बहुत मुफीद जगह है। यहां वर्ष भर कुछ न कुछ आयोजन होते रहते हैं। डोंगबिकसियों द्वीप इसके दक्षिण किनारे पर बसा है। इसका नजारा आप कार से भी कर सकते हैं। फिशिंग यानि मछली पकड़ने के लिए भी यह जगह काफी प्रसिद्ध है। बुसान में स्थित इस द्वीप पर जो सबसे खास गतिविधि है वह है सूर्योदय का पहला नजारा। साल की पहली तारीख को दुनिया के अलग-अलग इलाकों से लोग इस नजारे को देखने यहां आते हैं।

जियोंगजू
उत्तरी उलसन और बुसान के दक्षिण-पूर्वी इलाके में बसा है यह छोटा-सा शहर। इस शहर को आमतौर पर एक ऐसा म्यूजियम कहा जाता है, जिसमें दीवारें न हों। दरअसल, यहां पर बड़ी संख्या में ऐतिहासिक स्थल हैं, जहां देखने-समझने को काफी कुछ है। बुलगस्का मंदिर पुरे कोरिया में प्रसिद्ध है, यहीं स्थित है। इसमें एक बार कागज के रूपये को मड़वा दिया गया था। कहा जाता है कि यह पुराना पांच सौ का नोट था। यह मंदिर कोरियाई बुद्विस्ट स्थापत्य का एक शास्त्रीय नमूना है। यदि आप यहां आने को इच्छुक हैं तो कोशिश कीजिए कि सुबह तड़के आएं। आप पाएंगे यह एक मास्टर पीस है, जो दुनियामें दूसरी और कम जगह देखने को मिल सकती है। दरअसल, यह आठवीं सदी का कला नूमना है जिसे सिला राजवंश में बनाया गया था। बसंत कि मौसम में इसका नजारा और सुंदर जान पड़ता है। चेरी के पेड़ यहां की मुख्य गलियों में बहुतायत मिल जाते हैं।  

जाजू द्वीप
jeju island
जेजुडो या जाजू द्वीप 'आइलैंड ऑफ़ गॉड्स' के नाम से भी मशहूर है। कोरिया के साथ-साथ यहां अलग-अलग देशों से आए विदेशी पर्यटकों की भीड़ लगी रहती है। कोरिया के नवविवाहित युगलों के लिए सबसे प्रिय हनीमून पड़ाव रहा है। ज्वालामुखी प्रदेश होने के कारण यहां मिलने वाले काले-काले पत्थर, अक्सर होने वाली बारिश और एक समान मौसम रहने के कारण यह युएस के हावी आइलैंड की तरह पसंदीदा हनीमून पड़ाव है। इस नैसर्गिक सुंदरता वाले पड़ाव पर आकर कई सूंदर गतिविधियां भी होती हैं, जो पर्यटकों को अपनी ओर खींचने के लिए काफी है। मसलन, हल्ला सैन जो कि दक्षिण का सबसे ऊँची चोटी मानी जाती है वहां कि चढ़ाई, समंदर के तट पर सूर्योदय ओर सूर्यास्त का नजारा, झरनों कि कल-कल आवाज ओर उन्हें दूर से निहारने का जादुई अहसास।
केवल इतना ही नहीं, इन सबसे अलावा ऐसी चीजें हैं, जो दक्षिण कोरिया की तरफ आपको रुख करने के लिए बाध्य क्र सकते हैं। यदि आप प्रकृति प्रेमी के साथ संस्कृति और इतिहास आदि को जानने-समझने में रूचि रखते हैं, तो यहां के म्यूजियम आपका ध्यान खीचेंगे। जेजु एजुकेशन म्यूजियम, जेजु इंडिपेंडेस म्यूजियम, फॉकलोर और नेचुरल हिस्ट्री म्यूजियम जाकर अपनी जानकारी में इजाफा कर सकते हैं। पार्क और गुफाओं के खूबसूरत नजारों के लिए इस जगह का कोई जवाब नहीं, तो देर किस बात की। जल्दी बनाइए योजना जाजू द्वीप के सैर की।
 

सियोरक्सन नेशनल पार्क
ताईबेक पर्वत श्रृंखला में सियोरक्सन सबसे ऊँची पर्वत चोटी है। यह दक्षिण कोरिया के पश्चिम क्षेत्र में स्थित गंगवोन प्रांत में स्थित है। यह नेशनल पार्क हर साल पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करता है। पतझड़ के समय में यहां भरी संख्या में पर्यटक आते हैं। पतझड़ के रंगों से सराबोर इस जगह को कोरिया के कुछ खास पर्यटन स्थलों में से एक माना जाता है। लाला और पीले पत्तों से भरे जंगल जिसमें बीच-बीच पत्थरों की कलाकृतियां, छोटे-छोटे पर्वत और नदियां मिलती हों, ऐसे नजारों में भला कौन नहीं गुम हो जाना चाहेगा। इस जगह पर कुछ मशहूर मंदिर भी मिलते हैं। इसमें बीकडेम-सा प्रमुख है। कुछ दूसरे स्थल जो इसे खास बनाते हैं वे हैं, सियोरेक का बाहरी इलाका और दक्षिणी सियोरेक। इन्हें डेचियोंग-बोंग, सियोरेक सेन की मुख्य चोटी अलग करती है।
Religious Festival
Share:

0 comments:

Post a Comment