Saturday, 10 March 2018

, ,

"jaipur" Pink City of India

jaipur
hawa mahal
राजस्थान की राजधानी जयपुर अपने भव्य विशाल किलों, खूबसूरत ऐतिहासिक इमारतों और अनूठी सांस्कृतिक पहचान के लिए दुनियाभर में मशहूर है। होली पर यह गुलाबी शहर भी रंग गया है गज-महोत्सव के रंग में। आज अनंत विजय के साथ चलते हैं इस शहर के खास सफर पर... 

हवा महल 
लाल और गुलाबी पत्थरों से बनी यह खूबसूरत इमारत बड़ी चौपड़ के पास है। इसमें छोटे- छोटे सैकड़ों झरोखे हैं, जिनसे गर्मियों में ठंडी हवा आती है। बाहर से ये झरोखे मधुमक्खी के छते की तरह लगते हैं। हर मंजिल पर कमरे खास तरिके से बनाए गए हैं ताकि हवा बाधित न हो। पांच मंजिला हवा महल राजमुकुट की तरह दिखाई देता है।

सिटी पैलेस 
jaipur
city-palace

यह जयपुर के राजा सवाई जयसिंह का मुख्य महल था। बहुत ही विशाल और भव्य इस राजमहल में तीन बड़े गेट हैं। इसके भीतर अनेक महल हैं, जिनमें से चंद्र महल और मुबारक महल मुख्य हैं। इसके एक हिस्से में म्यूजियम बना दिया गया है, जहां जयपुर राजघराने के राजाओं के वस्त्र से लेकर हथियार तक प्रदर्शित किए गए हैं।

जल महल 
jaipur
jal mahal

रेगिस्तान और रेत के लिए प्रसिद्ध राजस्थान की राजधानी में एक महल ऐसा भी है, जो पानी के आगोश में सालों से मुस्कुराता हुआ खड़ा हैं। यह अनोखा महल है जल महल। यह मानसागर लेक की बीच में बना है। इसके पीछे नाहरगढ़ की पहाड़ी है, जो इस लोकेशन को और मनोरम बना देती है।

आमेर का किला 
jaipur
ajmer fort

यह जयपुर शहर से करीब 11 किलोमीटर दूर है। एक अनुमान के मुताबिक हर रो करीब पांच हजार पर्यटक इस ऐतिहासिक किले को देखने पहुंचते हैं। गुलाबी और पिले पत्थरों से बना यह किला पहाड़ी पर होने की वजह से बेहद आकर्षक लगता है। सुबह के वक्त किला देखने जाने के लिए हाथी की सवारी भी उपलब्ध है।

जंतर मंतर 
jaipur
jantar mantar

खगोलीय वेधशाला जंतर मंतर भी जयपुर का एक प्रमुख पर्यटक स्थल है। यह सबसे बड़ी वेधशाला मानी जाती है, जिसमें विज्ञान, धर्म और कला एक साथ रूपाकार होते हैं। यहां मौजूद बड़े आकार की धूप घड़ी भी आपको अचरज से भर सकती है। कहा जाता है कि यह दुनिया की सबसे बड़ी धूप घड़ी है।

अल्बर्ट हॉल संग्रहालय 
jaipur
albert hall

अजमेरी गेट के रामनिवास बाग़ स्थित अल्बर्ट हॉल म्यूजियम या गवर्नमेंट सेंट्रल म्यूजियम वहां का सबसे बड़ा और पुराना संग्रहालय है। इस म्यूजियम में दुनियाभर के कलाकृतियां एकत्रित की गई हैं। जयपुर का यह संग्रहालय जब रात को पीली रोशनी से जगमागता है तो इसकी खूबसरती में चार चांद लग जाते हैं।
Share:

0 comments:

Post a Comment